धोनी ब्रिगेड ने निभाया अतिथि देवो भव: धर्म : #उलटी चप्‍पल

#उलटी चप्‍पल
कल बैंगलोर में खेले गए पहले टी 20 मैच में मेहमान टीम ने जीत दर्ज करते हुए दो मैचों की सीरिज में मेजबान टीम को एक जीरो से पछाड़ दिया। मेहमान टीम भारतीय क्रिकेटरों की मेहमान निवाजी से बेहद खुश है। आए हुए मेहमानों में एक भारतीय दामाद भी हैं, सानिया के शौहर। कल का सारा मैच उनके नाम ही रहा, क्‍यूंकि वो अंत तक नाबाद रहने में सफल रहे।

उधर, भारतीय टीम ने मैच हराने के बाद कहा कि उन्‍होंने मेहमानों को खुश करने के लिए शत प्रतिशत सहयोग किया। हमें नहीं लगता कि हमने मेहमान को खुश करने में कोई कसर बाकी छोड़ी है। इससे पहले भी हमने 28 सालों से जीत का सपना देख रहे इंग्‍लैंड निवासियों को यहां से खुश करके भेजा। इस सीरिज के दूसरे मैच के लिए हम पूरी तरह तैयार हैं, हम नहीं चाहते कि मेहमान कोई किसी भी प्रकार की निराशा का सामना करना पड़े।

उधर, बीसीसीआई पाकिस्‍तानी क्रिकेट बोर्ड से निरंतर संपर्क कर रही है एवं निवेदन कर रही है कि पाकिस्‍तानी खिलाड़ियों को आईपीएल में खेलने की अनुमति दें। अगर खुफिया सूत्रों की माने तो धोनी ब्रिगेड के अतिथि देवो भव: धर्म निभाने से बीसीसीआई की साख़ निरंतर गिरती जा रही है। बीसीसीआई इसको लेकर निरंतर चिंतित है, भले भारतीय सरकार देश में बढ़ते क्राइम ग्राफ को लेकर बिल्‍कुल चिंतित न हो। बीसीसीआई चाहती है कि जैसे भारतीय खिलाड़ियों का आईपीएल खेलने से खेल स्‍तर निरंतर गिरता जा रहा है, वैसे ही एशियाई क्षेत्र की अन्‍य टीमों का भी गिरना चाहिए, क्‍योंकि आगे निकलने के दो तरीके हैं, या तो खेल स्‍तर को सुधारो या फिर दूसरे का भी बिगाड़ो।

अगर भारतीय टीम का खेल स्‍तर आने वाले दिनों में नहीं सुधरता तो टी 20 के बाद शुरू हुए गली फॉर्मेट में भारतीय खिलाड़ियों को खेलने के लिए भेजा जाएगा एवं स्‍टार बल्‍लेबाजों को अधिक से अधिक विज्ञापन करने की छूट दी जाएगी, इससे होने वाली कमाई का 50 फीसद हिस्‍सा बीसीसीआई अपने पदाधिकारियों के एशो आराम के लिए सुरक्षित रखेगी।

Comments

  1. शानदार लेखन,
    जारी रहिये,
    बधाई !!!

    ReplyDelete
  2. जोर का झटका धीरे से लगा,,,बढ़िया व्यंग ...

    recent post : समाधान समस्याओं का,

    ReplyDelete

Post a Comment

हार्दिक निवेदन। अगर आपको लगता है कि इस पोस्‍ट को किसी और के साथ सांझा किया जा सकता है, तो आप यह कदम अवश्‍य उठाएं। मैं आपका सदैव ऋणि रहूंगा। बहुत बहुत आभार।

Popular posts from this blog

हैप्पी अभिनंदन में इंदुपुरी गोस्वामी

कुछ मिले तो साँस और मिले...

महात्मा गांधी के एक श्लोक ''अहिंसा परमो धर्म'' ने देश नपुंसक बना दिया!

विद्या बालन की 'द डर्टी पिक्‍चर'

यदि ऐसा है तो गुजरात में अब की बार भी कमल ही खिलेगा!

'XXX' से घातक है 'PPP'

'प्रभु की रेल' से अच्छी है 'रविश की रेल'