‘पीपुल्स हीरो’ सुपर-30 के आनंद कुमार बने

आईआईटी संयुक्त प्रवेश परीक्षाओं के लिये कोचिंग मुहैया कराने वाले सुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार को ‘पीपुल’ पत्रिका ने ‘पीपुल्स हीरो’ चुना है.

एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि टाइम पत्रिका समूह की पीपुल पत्रिका ने अपने भारतीय संस्करण में आनंद पर एक विस्तृत फीचर प्रकाशित किया है और ‘पीपुल्स हीरो’ की सूची में शामिल किया है.

आमतौर पर यह पत्रिका फिल्म और अन्य क्षेत्रों के नामचीन सितारों की खबरें छापती हैं लेकिन इस बार उसने शिक्षा के पेशे से जुड़े व्यक्ति को चुना है.
पत्रिका ने कहा, ‘आनंद ने यह अपने बूते किया है जो उल्लेखनीय है.’

विज्ञप्ति में आनंद के हवाले से कहा गया है, ‘पीपुल में जगह पाकर बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं. मैं कोई नामचीन सितारा नहीं हूं. मैं बस एक आम इंसान हूं.’

जापान में 'ग्लोबल 30'  - भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने वाले चर्चित संस्थान पटना के 'सुपर 30' की तर्ज पर जापान स्थित टोक्यो विश्वविद्यालय ने 'ग्लोबल 30' संचालित करने की योजना बनाई है। इसमें सुपर 30 से एक विद्यार्थी का चयन किया जाएगा, जिसका पूरा खर्च टोक्यो विश्वविद्यालय उठाएगा।

'सुपर 30' को नजदीक से देखने और समझने पटना आए टोक्यो विश्वविद्यालय के इंडिया ऑपरेशन प्रमुख हिरोसी योसीनो ने पत्रकारों को बताया कि 'सुपर 30' के संचालक और गणितज्ञ आनंद कुमार जापान में युवाओं के रोल मॉडल हैं।

ऐसे में वहां के गरीब छात्रों को पढ़ाई के लिए टोक्यो विश्वविद्यालय 'ग्लोबल 30' कार्यक्रम प्रारम्भ कर रहा है। उन्होंने बताया कि मैंने आनंद से मिलकर 'सुपर 30' की रूपरेखा और पढ़ाई के विषय में जानकारी प्राप्त की है। आनंद की जीवनी विश्वविद्यालय के पाठ्य पुस्तकों में भी सम्मिलित किया गया है।

Comments

  1. उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवार के चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
  2. परिश्रम व्‍यर्थ नहीं जाती ..
    बधाई और शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  3. बेहद सुन्दर प्रस्तुति श्रमेव जयते के भाव युक्त...आभार सादर शुभ कामनाएं

    ReplyDelete

Post a Comment

हार्दिक निवेदन। अगर आपको लगता है कि इस पोस्‍ट को किसी और के साथ सांझा किया जा सकता है, तो आप यह कदम अवश्‍य उठाएं। मैं आपका सदैव ऋणि रहूंगा। बहुत बहुत आभार।

Popular posts from this blog

हैप्पी अभिनंदन में इंदुपुरी गोस्वामी

कुछ मिले तो साँस और मिले...

महात्मा गांधी के एक श्लोक ''अहिंसा परमो धर्म'' ने देश नपुंसक बना दिया!

विद्या बालन की 'द डर्टी पिक्‍चर'

यदि ऐसा है तो गुजरात में अब की बार भी कमल ही खिलेगा!

'XXX' से घातक है 'PPP'

'प्रभु की रेल' से अच्छी है 'रविश की रेल'