हैप्पी अभिनंदन में शिवम मिश्रा

ब्लॉग ने पूरे हिन्दुस्तान को एक मंच पर ला खड़ा किया है, ब्लॉगिंग के बहाने हमको देश के कोने कोने का हाल जानने को मिल जाता है। देश का कितना बड़ा भी न्यूज पेपर हो, लेकिन आज वो ब्लॉग जगत के मुकाबले बहुत छोटा है। अखबार गली कूचों में बांट कर रह गया है, कारोबार ने उसकी सीमाएं बहुत छोटी कर दी। अखबार का दायरा जितना छोटा हुआ है, ब्लॉग जगत का दायरा उतना ही बड़ा हुआ है। जम्मू कश्मीर से मदरास तक और असम से गुजरात तक ही नहीं बल्कि हिन्दी ब्लॉगिंग का नेटवर्क तो सरहद पार विदेशों तक फैला हुआ है। इस नेटवर्क को एक एक ब्लॉगर ने बनाया है, ब्लॉग नेटवर्क एक माला की तरह है, जो एक एक मोती से बनती है। इस ब्लॉग रूपी माला में बहुत से मोती हैं, उन्हीं मोतियों में से एक मोती शिवम मिश्रा के साथ आज हैप्पी अभिनंदन में आप सबको रूबरू करवाने जा रहा हूँ, जो उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले से बुरा भला एवं जागो सोने वालों ब्लॉग को संचालित करते हैं। आओ आगे पढ़ें, कुलवंत हैप्पी  के सवाल और शिवम मिश्रा के जवाब।

कुलवंत हैप्पी : सबसे पहले जानना चाहेंगे कि आपकी जन्मस्थली कौन सी है और आपका जन्म कब हुआ?
शिवम मिश्रा : मेरा जन्म 15 मई, 1977 कों कोलकत्ता में हुआ। मैं 1997 तक कोलकत्ता में ही रहा और अपनी 12वीं तक की पढाई वहाँ की। इसे साल हम लोग मैनपुरी आ बसे यहाँ हमारी पुश्तैनी जमीन और मकान है।

कुलवंत हैप्पी : मिश्रा जी आपने ब्लॉग जगत में कब और कैसे आए?
शिवम मिश्रा : ब्लॉग जगत में मेरे खास दोस्त हिर्देश सिंह के प्रोत्साहन से आया। हिर्देश मैनपुरी एक जाने माने युवा पत्रकार है और अपना एक न्यूज़ चैनल चलाते हैं- सत्यम न्यूज़ के नाम से। मैंने अपनी पहली पोस्ट 31/03/2009 को लिखी थी। ब्लॉग जगत में आने का प्रमुख्य कारण यही था कि अपने मन की भावनायों को सब तक पहुंचाऊं अपने शब्दों में।

कुलवंत हैप्पी : आप ने बीच में ब्लॉगिंग से दूरी बना ली थी, कोई विशेष कारण?
शिवम मिश्रा : जी हाँ बीच में ब्लॉग जगत से दूर था, इस का केवल यही कारण था कि मेरे internet service provider द्वारा ब्लॉगर.कॉम तक मेरी पहुच बंद कर दी गई थी किसी तकनीकी कारण की वजह से वैसे अब जब लौटा हूँ तो आप जैसे मित्रों से पता चला है कि उन दिनों ब्लॉग जगत में काफी घमासान हुआ तो सोचता हूँ अच्छा ही हुआ कि दूर था।
 
कुलवंत हैप्पी : ब्लॉग जगत में आपका अब तक का सफर कैसा रहा?
शिवम मिश्रा : अब तक का ब्लॉग जगत का सफ़र तो काफी बढ़िया रहा आगे खुदा मालिक।

कुलवंत हैप्पी : ब्लॉगिंग के अलावा असल जिन्दगी में आजीविका के लिए क्या करते हैं आप?
शिवम मिश्रा : असल जीवन में ब्लॉगिंग के आलावा मैं एक investment consultant के रूप में कार्य कर रहा हूँ ख़ासकर बीमा क्षेत्र में।

कुलवंत हैप्पी : कोई ऐसा लम्हा जिसने कुछ अलग करने के लिए प्रेरित किया हो, और हमारे साथ बाँटना चाहते हों?
शिवम मिश्रा : देखिए अलग तो हम सब ही करना चाहते हैं पर सब से बहेतर यह होता है कि हम जो कर सकते है उसको ही और बहेतर तरीके से करे। मेरा तो मानना यही है।

चक्क दे फट्टे : शिवम : गधा मिठाई को देखकर क्या सोचता होगा? यार, हैप्पी : काश! यह मिठाई घास होती।

Comments

  1. बहुत बहुत आभार इन से मिलवाने का! बहुत उम्दा लगा!

    ReplyDelete
  2. शिवम मिश्रा जी से मिलकर मन प्रसन्न हुआ. धन्यवाद!

    ReplyDelete
  3. शिवम को इस तरह जानना अच्छा लगा.

    ReplyDelete
  4. ये बहुत अच्छा रहा ......अच्छी पहचान हो गयी ...शुक्रिया जी

    ReplyDelete
  5. shivam mishra ji ka parichay pakar achchha laga. Mishra ji ab apako apake lekho dwara janane ki ichchha hai.

    ReplyDelete
  6. वाह!स्वागत है शिवम मिश्रा का।

    ReplyDelete
  7. कुलवंत भाई , बहुत बहुत आभार आपका !! आशा है आप सब का प्यार युही मिलता रहेगा !! इस सम्मान के लिए बहुत बहुत धन्यवाद !!

    ReplyDelete
  8. शिवम जी ने जानकारी बहुत संक्षिप्‍त में दी है पर खूब उपयोगी है। लगता है पहला इंटरव्‍यू है भाई शिवम का। अगली बार वे और अधिक विचार व्‍यक्‍त करेंगे। वास्‍तव में हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग ने एक नई सामाजिक क्रांति का सूत्रपात किया है।

    ReplyDelete
  9. शिवम् भाई इन्तहां ख़ुशी....कुलवंत जी को सबसे ज्यादा बधाई कि उन्होंने शिवम् के हुनर को जाना.शिवम् भाई आप इसी तरह बुलंदियों को छूते रहें ढेरों शुभकामनायें...

    ReplyDelete
  10. बहुत अच्छी प्रस्तुति।
    राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।

    ReplyDelete
  11. शिवम भाई को जानकर अच्छा लगा।
    बहुत अच्छे गुरु...

    ReplyDelete
  12. शिवम् से बात करना हमेश सुखद एहसास देता है.......सम्मान की बात यह है कि वो भी मेरे गृह जनपद मैनपुरी के रहने वाले हैं......शिवम् की कर्तव्य के प्रति लगन और संबंधों के लिए इमानदार होना उनकी सबसे बड़ी पहचान हैं......छोटे भाई शिवम् का परिचय करने का शुक्रिया.

    ReplyDelete
  13. bahut accha laga interview dekhkar aur padhkar . din par din unnati karte raho.

    ReplyDelete

Post a Comment

हार्दिक निवेदन। अगर आपको लगता है कि इस पोस्‍ट को किसी और के साथ सांझा किया जा सकता है, तो आप यह कदम अवश्‍य उठाएं। मैं आपका सदैव ऋणि रहूंगा। बहुत बहुत आभार।

Popular posts from this blog

हैप्पी अभिनंदन में इंदुपुरी गोस्वामी

कुछ मिले तो साँस और मिले...

महात्मा गांधी के एक श्लोक ''अहिंसा परमो धर्म'' ने देश नपुंसक बना दिया!

विद्या बालन की 'द डर्टी पिक्‍चर'

यदि ऐसा है तो गुजरात में अब की बार भी कमल ही खिलेगा!

'XXX' से घातक है 'PPP'

'प्रभु की रेल' से अच्छी है 'रविश की रेल'